Uncategorized

कॉलम:-मनका मेरे मन का / दशहरे पर खुश क्यों ?

डॉ. प्रतिभा जैन (होम्योपैथ डॉक्टर, लेखिका, अष्टमंगल  मेडिटेशन शिक्षिका होने के साथ ही “मन की थाह” नाम से लोकप्रिय पॉडकास्ट भी करती हैं।) सभी को

COLUMN Uncategorized

पिता के नाम एक खत: हां, पापा मैं आप जैसी हूं

फादर्स डे- संध्या  रायचौधरी     मेरे पापा सारी दुनिया कहती है कि पापा आप इस दुनिया में नहीं हो, लेकिन मैं इसे कैसे सच मान लूं क्योंकि

COLUMN Uncategorized

कॉलम : मनकही

डॉ. गरिमा मिश्र तोष अंग्रेजी साहित्य में एमए, लेकिन रचनात्मकता और मन के भावों को हिन्दी साहित्य में बखूबी व्यक्त करती हैं। शास्त्रीय संगीत गायन

Uncategorized

‘वक़्त पर रक्त’ दीपक विभाकर नाईक के जीवन को आईने की तरह दिखाती है

पुस्तक “वक्त पर रक्त” का लोकार्पण ( रक्तदान के प्रति जनचेतना का विनम्र प्रयास) इंदौर. सामाजिक सरोकार के लिए हम जो भी करते हैं वह

Uncategorized

खौफ में कैसे बनेगा नवजीवन का भविष्य?

अदिति सिंह भदौरिया मानव जीवन का सबसे सुन्दर पहलू है नव जीवन का आरम्भ , परन्तु यदि नव जीवन डर और खौफ से भागकर शुरू

Uncategorized

महिला दिवस पर विशेष / ‘एक नई मैं’

     नए साल पर ही क्यों.. अपने दिवस यानी महिला दिवस से करें प्रण की शुरुआत….  महिमा वर्मा  हां, इस बार आप ‘अपने‘ लिए

Uncategorized

सखी बसंत आया !

  प्रियप्रिया की संपन्नता के सम्मुख धनपति भी अकिंचन से… ( मैंने देखा वो प्रेम) यशोधरा भटनागर बसंत!ऋतुराज बसंत!संपूर्ण वैभव से अलंकृत पीतांबरा धरा!मदमस्त बासंती

Uncategorized

पत्रिका शब्दाहुति का विमोचन समारोह आज

      इंदौर के रचनाकारों का सम्मान किया जाएगा इंदौर। नई दिल्ली से प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका शब्दाहुति का विमोचन समारोह आज प्रीतमलाल दुआ सभागृह में किया

Uncategorized

वेलेंटाइन डे – अब भी धड़कते हैं ये खत

एक जमाना था प्रेम का इजहार खुशबू बिखेरते गुलाबी कागज पर उकेरे काले अक्षरों से होता था। दिल धड़क जाता था जब कंपकंपाती उंगलियां हौले

Uncategorized

बोलियां नदियों की तरह संस्कार भी बहाती हैं

                          पुस्तक नवलोकांचल गीत का लोकार्पण विशेष- 50 बोलियां गीत व कविता रूप में संकलित हिंदी की पांच उप भाषाएँ 18 बोलियाँ और 10 उप